November 30, 2022

Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/u332939495/domains/bamiyanfuture.com/public_html/wp-content/themes/chromenews/lib/breadcrumb-trail/inc/breadcrumbs.php on line 253

a
UP Latest News यूपी में इस बार उम्मीद के अनुसार पानी बरस नहीं रहा। इसका अंदाजा इसी से लग सकता है कि 13 अगस्त तक प्रदेश में पिछले दो वर्षों में 92 व 91.8 प्रतिशत वर्षा हुई थी जबकि इस बार आंकड़ा महज 50.2 तक पहुंचा है।

UP Latest News: लखनऊ, राज्य ब्यूरो। उत्तर प्रदेश में आषाढ़ और सावन के बाद अब भादों में भी भरपूर वर्षा न होने से किसान परेशान हैं। अब तक कुल वर्षा का आंकड़ा सामान्य का 50.2 प्रतिशत ही पहुंच सका है, यह जरूर है कि इधर स्थिति पहले से कुछ बेहतर जरूर रही है, इसीलिए अगस्त में बरसात 52.4 प्रतिशत होने का दावा किया गया है।
अभी प्रदेश में 25 जिले ऐसे हैं जहां वर्षा 40 प्रतिशत तक नहीं हो सकी है। कृषि विभाग के अधिकारियों को भी इन जिलों में खेतों में सूखा दिखा है। यूपी में 15 जून के बाद खरीफ फसलों की बोवाई शुरू होने की समय सारिणी तय है लेकिन, अधिकांश क्षेत्रों में धान की रोपाई सहित अन्य फसलों की बोवाई वर्षा पर ही निर्भर रहती है।

इस बार शुरू से अच्छी वर्षा के दावे जरूर किए जा रहे हैं लेकिन, उम्मीद के अनुसार पानी बरस नहीं रहा। इसका अंदाजा इसी से लग सकता है कि 13 अगस्त तक प्रदेश में पिछले दो वर्षों में 92 व 91.8 प्रतिशत वर्षा हुई थी, जबकि इस बार आंकड़ा महज 50.2 तक पहुंचा है।
क्षेत्रवार वर्षा में सबसे आगे अप्रत्याशित रूप से बुंदेलखंड है, जहां पर अब तक सामान्य का 80.8 प्रतिशत, पश्चिम में 64.3 प्रतिशत, मध्य क्षेत्र में 50.1 और पूरब में 38.3 प्रतिशत वर्षा हो सकी है। तीन जिले फिरोजाबाद, आगरा व चित्रकूट ही ऐसे हैं जहां शत-प्रतिशत वर्षा हुई है, वैसे दस जिले 80 प्रतिशत वर्षा की सूची में जगह पा सके हैं।

12 जिलों में 60 से 80 प्रतिशत, 28 जिलों में 40 से 60 प्रतिशत और 25 जिलों में वर्षा 40 प्रतिशत से भी कम है। इसमें सबसे कम जौनपुर में 20, रायबरेली में 21.6 व गौतमबुद्ध नगर में 22.3 प्रतिशत वर्षा हुई है।
कृषि विभाग का दावा है कि अधिकांश क्षेत्रों में धान की रोपाई व फसलों की बोवाई हो चुकी है। किसानों के सामने छिटपुट वर्षा होने से जैसे तैसे बोवाई की जाने वाली फसलों को बचाने का संकट है।

कृषि विभाग ने कम वर्षा वाले जिलों का हाल जानने पिछले दिनों विभागीय अफसरों को भेजा था, अधिकांश को जिलों में सूखा नजर आया है। वे शासन को रिपोर्ट सौंप रहे हैं जल्द ही इस संबंध में निर्णय लिया जाएगा। इसका असर फसल की पैदावार पर पड़ना तय है।

Copyright © 2022 Jagran Prakashan Limited.

source

Leave a Reply

Your email address will not be published.