November 30, 2022

Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/u332939495/domains/bamiyanfuture.com/public_html/wp-content/themes/chromenews/lib/breadcrumb-trail/inc/breadcrumbs.php on line 253

a
बताया जाता है कि मुख्यमंत्री जनप्रतिनिधियों और भाजपा पदाधिकारियों के साथ बैठक कर नेताओं के बीच खटास को दूर करने का प्रयास करेंगे। इसी वजह से सभी की नजर मुख्यमंत्री के साथ जनप्रतिधियों की बैठक पर सभी की नजर लगी हुई है।

नोएडा [धर्मेंद्र चंदेल]। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दूसरे कार्यकाल में पहली बार गौतमबुद्ध नगर में आए हैं। वह दो दिन के दौरे पर हैं। सोमवार सुबह इंडिया एक्सपो मार्ट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के डेरी समिट उदघाटन कार्यक्रम में शामिल होने बाद मुख्यमंत्री के जिले की तमाम विकास परियोजना की समीक्षा करेंगे।
अधिकारियों के हाथ-पैर फूले
गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में जिले के जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक करने के बाद शहर के प्रबुद्ध लोगों से अलग-अलग बैठक करेंगे। संभावना जताई जा रही है कि विकास योजनाओं को धरातल पर परखने के लिए मुख्यमंत्री दिन में किसी गांव का अचानक भ्रमण कर सकते हैं। हालांकि, इससे अधिकारियों के हाथ-पैर फूले हैं।

उन्हें डर है कि मुख्यमंत्री गांव में पहुंचे तो कहीं धरातल की सच्चाई देखकर भड़क न जाएं। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि कथित भाजपा नेता श्रीकांत त्यागी प्रकरण की वजह से यहां के भाजपाई आपस में बंटे हैं। पर्दे के पीछे एक-दूसरे पर तीर चलाए जा रहे हैं। गुटबाजी इस हद तक बढ़ गई है कि पिछले सप्ताह प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री नंदगोपाल नंदी जिले के दौरे पर आए थे। इस दौरान भाजपा नेता आपस में बंटे रहे।

एक धड़े ने औद्योगिक विकास मंत्री के कार्यक्रम से दूरी बना ली थी। आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी इस गुटबाजी को गंभीरता से ले रही है। 
पिछली बार 25 नवंबर को नोएडा आए थे सीएम योगी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पिछली बार 25 नवंबर को जेवर में नोएडा में इंटरनेशनल एयरपोर्ट के उद्घाटन अवसर पर आए थे। हालांकि, इसके बाद विधानसभा चुनाव के दौरान उन्होंने जेवर में एक जनसभा की थी और उससे पहले राजकीय आर्युविज्ञान संस्थान (जिम्स) का दौरा किया था। लंबे अंतराल के बाद मुख्यमंत्री जिले में विकास कार्यों की समीक्षा के लिए आए हैं।

सोमवार को वह गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में शहर के उद्यमी, शैक्षिक संस्थानों के संचालक, कारोबारी, अस्पताल संचालक व विभिन्न सामाजिक, सांस्कृतिक संगठनों के साथ बैठक कर शहर के विकास की असली तस्वीर का परखकर कुछ नया देने का प्रयास करेंगे। शाम को वह एक्सपो मार्ट में गृहमंत्री अमित शाह के कार्यक्रम में भी शामिल होंगे। इसके बाद प्राधिकरण, पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक कर विकास परियोजनाओं की समीक्षा करेंगे।

नोएडा में मुख्यमंत्री की तमाम परियोजनाएं अधर में अटकी
खासकर जिन परियोजनाओं का मुख्यमंत्री पूर्व में शिलान्यास कर चुके हैं, उनकी असली तस्वीर की हकीकत पता करेंगे। इससे अधिकारियों में डर बना हुआ है। नोएडा में मुख्यमंत्री की तमाम परियोजना अधर में अटकी पड़ी है। नए काम भी नहीं हुए हैं। किसानों के लंबित प्रकरणों पर भी मुख्यमंत्री अधिकारियों ने विस्तृत रिपोर्ट मांग सकते हैं, इसलिए पिछले दो दिन से अधिकारी किसानों के प्रकरणों की सूची बनाने में लगे थे।

Copyright © 2022 Jagran Prakashan Limited.

source

Leave a Reply

Your email address will not be published.