December 4, 2022

Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/u332939495/domains/bamiyanfuture.com/public_html/wp-content/themes/chromenews/lib/breadcrumb-trail/inc/breadcrumbs.php on line 253

a
Bihar News 7 महीनों में भागलपुर रेलवे स्टेशन पर मिले 152 बच्चे। 6 माह की बच्ची और मां के साथ ट्रेन से गिरकर जख्मी होने वाले दो साल का बच्चा भी शामिल है। नशा करने वाले आठ से 10 साल के आठ बच्चे भी शेल्टर किए गए हैं।

Bihar News, जागरण संवाददाता, भागलपुर : पिछले सात महीने में अपने माता-पिता से बिछड़े और भूले-भटके मासूम सहित 152 बच्चों को रेलवे चाइल्डलाइन ने बरामद किया है। सीडब्ल्यूसी के आदेशानुसार बरामद इन बच्चों में 80 को बाल गृह, बालिका गृह व शिशु गृह में शेल्टर किया गया है। वहीं, 49 बच्चे स्वजनों को सौंपे गए हैं। रेलवे चाइल्ड लाइन की काउंसलर रेणु गुप्ता के अनुसार बरामद और सेल्टर किए गए बच्चों में मध्यप्रदेश, असम और दिल्ली की बच्ची व गुजरात के दो बच्चे शामिल हैं। इसके अलावा स्टेशन प्लेटफार्मों पर नशा करते (सुलेशन सूंघते) आठ से 10 साल तक के आठ बच्चों को भी शेल्टर किया गया है।

हालांकि, ऐसे बच्चों को उनके अभिभावक शेल्टर से ले भी आते हैं। बताया जाता है कि ऐसे बच्चे को नशे के लिए चोरी, पाकेटमारी की घटना को भी अंजाम देने से परहेज नहीं है। उन्होंने बताया कि दो जून को कोचिंग यार्ड के पास किसी ट्रेन से गिरने से एक महिला की मौत हो गई थी और उसका दो साल का बेटा गंभीर रूप से जख्मी हो गया था। इलाज के बाद बच्चे को शिशु गृह में शेल्टर किया गया। वहीं, 11 जून को प्लेटफार्म संख्या छह से छह माह की बच्ची मिली थी। दुधमुंही को भी शिशु गृह में शेल्टर किया गया है। अबतक इन दोनों मासूमों के दावेदार नहीं आए हैं। दोनों स्वस्थ बताए जाते हैं।

किस माह में कितने बच्चे मिले और कितने को किया गया शेल्टर

Copyright © 2022 Jagran Prakashan Limited.

source

Leave a Reply

Your email address will not be published.