November 29, 2022

Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/u332939495/domains/bamiyanfuture.com/public_html/wp-content/themes/chromenews/lib/breadcrumb-trail/inc/breadcrumbs.php on line 253

Bihar Crime बिहार में साइबर अपराधी लगातार एक्टिव हैं। आम से खास लोगों को ये अपने निशाने पर ले रहे हैं। स बार साइबर अपराधियों ने बिहार के मुख्य सचिव आमिर सुबहानी को अपने निशाने पर लिया और खाते से पैसे निकालने की कोशिश की।

राज्य ब्यूरो, पटना। साइबर अपराधियों के निशाने पर आम से लेकर खास तक हैं। बिहार के अफसर अभी डीजीपी को फर्जी काल प्रकरण से उबरे भी नहीं थे कि राज्य के सबसे बड़े अधिकारी साइबर फ्राड का शिकार होते-होते बच गए। इस बार साइबर अपराधियों ने बिहार के मुख्य सचिव आमिर सुबहानी को अपने निशाने पर लिया और उनके बैंक खाते से कोई छोटी रकम नहीं बल्कि 90 हजार रुपये पर हाथ साफ करने की कोशिश की। 
सुबहानी को जैसे ही इस बात की भनक लगी उन्होंने तत्काल इस बात की सूचना आर्थिक अपराध कोषांग (इओयू) के एडीजी नैयर हसनैन को दी। जिसके बाद हरकत में आई इओयू की टीम ने त्वरित कार्रवाई की और महज दो घंटे में साइबर अपराधी पकड़ में आ गए। यह घटना रविवार की है। 

जानकारी के अनुसार सुबहानी रविवार को अंदेशा हुआ कि उनके साथ फ्राड करने की कोशिश हो रही है तो वे तुरंत सतर्क हो गए। उन्होंने ईओयू को इसके बारे में बताया। सुबहानी ने पुष्टि की की हालांकि जालसाज पैसे की निकासी नहीं कर सका है । 90,000 रुपये को बैंक खाते में ब्लॉक कर दिया गया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने जागरण को बताया कि रविवार की ही घटना है। उन्होंने कहा इओयू की पूरी टीम एडीजी नैयर हसनैन खा, एसपी सुशील कुमार व टीम के प्रति आभार व्यक्त किया और कहा इओयू की टीम के कारण उनके 90 हजार जाते जाते बच गए। गौरतलब है कि साइबर अपराधी आए दिनों आम लोगों के साथ धोखाधड़ी करते रहते हैं। ऐसी कई शिकायतें सामने भी आती हैं।  पर्व-त्योहार के दौरान साइबर फ्राड तेजी से एक्टिव हो जाते हैं। 

Copyright © 2022 Jagran Prakashan Limited.

source

Leave a Reply

Your email address will not be published.